समाचार

योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान- अगले पांच वर्षों में 70 लाख युवाओं को देंगे रोजगार!

यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने यूपी के युवाओं को लुभाने के लिए एक बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि अगले पांच वर्षों में 70 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। उनकी सरकार ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है।

Photo: Google

यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने यूपी के युवाओं को लुभाने के लिए एक बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि अगले पांच वर्षों में 70 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। उनकी सरकार ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। जल्‍द ही नई उद्योग नीति लागू की जाएगी, जिससे उत्‍तर प्रदेश में उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा और रोजगार के लिए यूपी से पलायन कर चुके युवाओं को घर वापस आने का मौका मिलेगा। वे साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में शुरू हुई भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर बीजेपी के वरिष्‍ठ नेताओं समेत ड‌िप्टी सीएम केशव मौर्य और ड‌िप्टी सीएम द‌िनेश शर्मा भी मौजूद रहे।

कार्यसमिति को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने जो मार्गदर्शन किया है उसका अनुसरण करके काम करेंगे। बीजेपी की सरकार बनने के बाद एक हलचल पैदा हुई है, वो हलचल है क‌ि जातिवाद, परिवारवाद और तुष्ट‌िकरण की राजनीत‌ि अब नहीं होगी। योगी ने कहा, बीजेपी ने जो राजनीत‌ि की उसी से देश का कल्याण हो सकता है। अराजकता से निपटने के ल‌िए कोई चुनौती नहीं है, मोदी जी ने हमारे सामने आदर्श रखा है। हमें तो बस उसी व्यवस्था का हिस्सा बनना है। हमने पिछले सवा दो महीने के अंदर काम किए हैं, जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का काम किया है।

एंटी रोमियो की माताओं-बहनों ने फोन कर की तारीफ

शपथ लेते ही मैंने अधिकारियों के साथ बैठक करके माताओं बहनों की सुरक्षा के बारे में जानकारी ली तो पता चला क‌ि इसके ल‌िए कोई व्यापक ‌इंतजाम नहीं हैं। हमने तुरंत एंटी रोमियो का गठन किया और लागू किया क‌ि ये पूरे प्रदेश में काम करे। बहुत सारे लोगों ने विरोध किया। हर अच्छे काम के विरोध होते हैं। बहुत सारी माताओं-बहनों ने फोन मैसेज और मेल से इस अभियान की तारीफ की और लिखा क‌ि हम भी सुरक्ष‌ित रह सकते हैं।

पहले बूचड़खाने तक जाने में डरते थे अधिकारी

सीएम ने कहा, अवैध बूचड़खाने बंद करवाने में अधिकारी डरते थे, कहते थे क‌ि छुरा मार दिया जाएगा। मैंने कहा, सत्ता बदल चुकी है अब कोई छुरा नहीं मारेगा। और देखते ही देखते अवैध बूचड़खाने बंद होने लगे और बाकी धीरे-धीरे बंद हो जाएंगे। हमसे कहा गया क‌ि मांस बंद करने से स्वास्थ्य पर असर पड़ेगा तो मैंने कहा, हम तो प्याज-लहसुन तक नहीं खाते हैं हमारे पास क्या कम ताकत है?

कर्जमाफी से 86 लाख किसानों को हुआ फायदा

सरकार बनने के आद हमने किसानों का ऋण माफ किया है। इससे प्रदेश के 86 लाख किसानों को सीधे-सीधे फायदा हो रहा है। पहली बार आलू के किसानों का समर्थन मूल्य घोषित किया गया है। बंद हो चुकी चीनी मिलों का वापस चालू करने में सरकार लगी है। यूपी के अंदर एक वीआईपी संस्कृत‌ि थी। बिजली भी चुनिंदा जिलों को ही मिलती थी। हमारे ऊर्जा मंत्री ने इसकी व्यवस्था कर रहे हैं कि प्रदेश के सभी जिलों को एक समान बिजली उपलब्‍ध कराई जाए। उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में बिजली व्यवस्था सुधरेगी भले ही इसमें कुछ वक्त लग सकता है। बिजली का बिल समय पर भरें और बिजली चोरी न करें। जहां लाइन लॉस कम होगा वहां ग्रामीण इलाकों में भी 24 घंटे बिजली मिलेगी।

100 दिनों में दिखेगा सकारात्‍मक बदलाव

उन्होंने कहा, पहले यूपी का मजाक उड़ाया जाता था। कहा जाता था क‌ि जहां से गड्ढे शुरू हों समझ लेना चाह‌िए क‌ि उत्तर प्रदेश की सीमा शुरू हो चुकी है। वहीं ये भी कहा जाता था क‌ि जहां से शाम को अंधेरा शुरू हो समझ लेना चाह‌िए यूपी की सीमा शुरू हो चुकी है। हम भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करेंगे। जब ये सरकार अपने 100 दिन के कार्यों का हिसाब लेकर आएगी तो इन सब मुद्दों पर सार्थक परिणाम लाएंगे। पहले ऐसा लगता था क‌ि यूपी सरकार को विकास से मतलब ही नहीं हैं। कई ऐसी योजनाएं थी जो लोगों के लिए कल्याणकारी थी पिछली सरकार ने कोई योजना यूपी में लागू नहीं की।

लाएंगे नई आबकारी नीत‌ि, खनन पर अब नहीं हो सकेगा 'खेल'

मुख्यमंत्री आद‌ित्यनाथ ने कहा कि महापुरुषों के नाम पर हमने छुट्ट‌ियां भी कैंसल कर दीं ताक‌ि बच्चे उनके बारे में जानने से व‌ंच‌ित न रह जाएं। हम लोगों के बाद दिल्ली सरकार को भी सदबुद्धि आ गई। हो सकता है क‌ि एमसीडी चुनाव की हार से ऐसा हुआ हो। अब वो भी यही नीत‌ि अपनाएंगे। उन्‍होंने कहा कि हम जल्‍द ही नई आबकारी नीति लाएंगे। पिछली सरकार ने 2016 में बी 2018 के ठेके दे दिए। हम नई आबकारी नीति में तय करेंगे कि शराब की दुकानें कहां-कहां खुलेंगे। इसके अलावा नई खनन नीति के साथ भी आएंगे। खनन माफिया अब पनप नहीं पाएगा। सरकार का जितना राजस्व नहीं आता था उससे ज

To Top