राजनैतिक

आज होगी विधायकों की बैठक, मनोज सिन्हा होंगे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, बस औपचारिकताएं बाकी।

प्रदेश के नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह 19 मार्च को होगा। यह कार्यक्रम राजधानी के कांशीराम स्मृति उपवन में शाम पांच बजे होगा। शासन के आलाधिकारियों ने शपथ ग्रहण को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है। इसके तहत मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने शुक्रवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण स्थल के साथ

Photo: Google

प्रदेश के नए मुख्यमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह 19 मार्च को होगा। यह कार्यक्रम राजधानी के कांशीराम स्मृति उपवन में शाम पांच बजे होगा। शासन के आलाधिकारियों ने शपथ ग्रहण को लेकर तैयारियां शुरू कर दी है। इसके तहत मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने शुक्रवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण स्थल के साथ सुरक्षा इतंजामों को लेकर गहन चर्चा की गई। बैठक में एयरपोर्ट के पास स्थित कांशीराम स्मृति उपवन को शपथ ग्रहण के लिए तय किया गया। वहीं डीजीपी जावीद अहमद ने इसको लेकर सुरक्षा के व्यापक प्रबन्ध के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह सहित कई केन्द्रीय मंत्री, भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, वरिष्ठ नेता-पदाधिकारियों सहित विभिन्न संगठनों के लोग और उद्योगपति भी शामिल होंगे। आयोजन में भारी संख्या में लोगों के जुटने के कारण स्मृति उपवन का चयन किया गया है। प्रशासन शपथ ग्रहण की तैयारियों को लेकर पूरी तरह से अलर्ट है। प्रधानमंत्री की मौजूदगी के कारण सुरक्षा के व्यापक इन्तजाम होंगे।

इस मौके पर राजधानी सहित आसपास के जनपदों की पुलिस भी तैनात होगी। वहीं शनिवार को राजधानी में भाजपा विधायकों की बैठक नए मुख्यमंत्री का फैसला होगा। इस बैठक में पर्यवेक्षक के तौर पर केन्द्रीय शहरी विकास एवं सूचना प्रसारण मंत्री वैंकेया नायडू व राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव मौजूद रहेंगे। इसके अलावा प्रदेश प्रभारी ओमप्रकाश माथुर, प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री शिवप्रकाश व प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल भी बैठक में शामिल रहेंगे। चर्चा है कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की सहमति से मुख्यमंत्री पद के लिए चेहरा तय कर लिया है। यहां उस नाम को विधायकों के सामने रखकर केवल औपचारिक रूप से ऐलान किया जायेगा।

To Top