समाचार

योगी सरकार का बड़ा फैसला- ख़त्म किया निजी मेडिकल कॉलेजों में आरक्षण

योगी सरकार की आेर कम समय में ही कर्इ बेहतरीन फैसले लिये गये हैं। जिनमें से निजी मेडिकल काॅलेजों में आरक्षण न देने का फैसला बेहतरीन है। इससे मेडिकल फील्ड में व्याप्त भ्रष्टाचार को खत्म करने में मदद मिलेगी।

Photo: Google

लखनऊ। सूबे के निजी मेडिकल कॉलेजों में आरक्षण ख़त्म किये जाने को लेकर योगी शख्त है।  पिछली सरकार की ओर से किया गया ये फैसला अब सूबे के सभी निजी मेडिकल कॉलेजों में लागू होगा। 
यूपी के निजी मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में पीजी सीटों में अब आरक्षण नहीं मिल मिलेगा। यानि एससी, एसटी आैर आेबीसी को आरक्षण नहीं दिया जायेगा। ये महत्वपूर्ण फैसला पूर्व की अखिलेश सरकार की आेर से लिया गया था। जिसको योगी सरकार पूरे प्रदेश में लागू करेगी।

योगी सरकार की आेर कम समय में ही कर्इ बेहतरीन फैसले लिये गये हैं। जिनमें से निजी मेडिकल काॅलेजों में आरक्षण न देने का फैसला बेहतरीन है। इससे मेडिकल फील्ड में व्याप्त भ्रष्टाचार को खत्म करने में मदद मिलेगी।
बता दें कि अखिलेश सरकार ने इस आदेश को यूपी व‍िधानसभा चुनाव में काउंटिंग से एक दिन पहले यानी 10 मार्च 2017 को जारी किया था। अब योगी सरकार नए सेशन से इस फैसले को लागू करेगी।

बता दें कि अभी तक अनुसचित वर्ग के स्टूडेंट्स को एडमिशन में 21 परसेंट, अनुसूचित जनजाति को 2 परसेंट, पिछड़ा वर्ग को 27 परसेंट और दिव्यांग श्रेणी के स्टूडेंट्स को 3 परसेंट रिज़र्वेशन का लाभ मिलता था, लेकिन अब नए आदेश के लागू होने के बाद से उन्हें ये छूट नहीं मिलेगी। बता दें, रिजर्वेशन की शुरुआत साल 2006 में पहली बार मुलायम सिंह यादव ने की थी।

To Top